× Subscribe! to our YouTube channel

ब्रह्मा जी की आयु है इस ब्राह्मण की आयु।

ब्राह्मण की आयु?
सृष्टिकर्ता ब्रह्मा जी हैं। इनकी आयु ब्राह्मण की आयु के बराबर होती है। ब्रह्मा जी की आयु १००० महायुगों के बराबर होती है।

ब्रह्मा की काल गणना

ब्रह्मा जी की आयु 100 वर्ष है। जिसमें से उनकी आधी उम्र बीत गयी है।

चारों युग

सत युग - 1,728,000 मानव वर्ष
त्रेता युग - 1,296,000 मानव वर्ष
द्वापर युग - 864,000 मानव वर्ष
कलि युग - 432,000 मानव वर्ष
यह चारों युग का कुल समय = 43 लाख 20 हजार मानव वर्ष होता है जिसे महायुग भी कहते है। श्रीमद्भग्वदगीता के अनुसार "सहस्र-युग अहर-यद ब्रह्मणो विदुः", अर्थात ब्रह्मा का एक दिवस = 1000 महायुग। इसके अनुसार ब्रह्मा का एक दिवस = 4 खरब 32 अरब मानव वर्ष (एक कल्प) है। इतना ही समय ब्रह्मा जी की रात्रि भी है। अर्थात ब्रह्मा जी का एक दिन (रत+दिन) होता है = 8,640,000,000 (8 खरब 64 अरब) मानव वर्ष (2 कल्प) है।
दूसरे शब्दों में समझें:
यह चारों युग = 43,20,000 (43 लाख 20 हजार) मानव वर्ष =1 महायुग
1 महायुग x 71 = 1 मन्वन्तर (306,720,000) मानव वर्ष
प्रत्येक मन्वन्तर के शासक एक मनु होते हैं। प्रत्येक मन्वन्तर के बाद, एक संधि-काल होता है, जो कि कॄतयुग के बराबर का होता है (1,728,000 = सत युग) (इस संधि-काल में प्रलय होने से पूर्ण पॄथ्वी जलमग्न हो जाती है।) एक कल्प में 1,728,000 मानव वर्ष होते हैं, जिसे आदि संधि कहते हैं, जिसके बाद 14 मन्वन्तर और संधि काल आते हैं।
'4 चरण' सत युग को कहते है। यह चारों युग = 43,20,000 (43 लाख 20 हजार) मानव वर्ष =1 महायुग
1 महायुग x 71 = 306,720,000 मानव वर्ष = 1 मन्वन्तर
15 x 4 चरण = 2,59,20,000 = 1 संधि-काल
(1 मन्वन्तर x 14) + 1 संधि-काल = 1 कल्प (4320000000 मानव वर्ष) = ब्रह्मा जी का एक दिन।
4320000000 मानव वर्ष ब्रह्मा जी सोते है = 1 कल्प
ब्रह्मा जी का पूरा दिन (रत + दिन) = 2 कल्प
काल गणना
ब्रह्मा जी की कुल आयु 100 वर्ष है। 2 कल्प x × 30 (दिन) × 12 (महीना) = 3.1104 खरब वर्ष (ब्रह्मा का 1 वर्ष)
3.1104 × 1012 ×100 = 31104 खरब वर्ष (ब्रह्मा के 100 वर्ष)

अभी ब्रह्मा जी के 50 बीत चुके है तो, 3.1104 × 1012 ×50 = 155.52 खरब वर्ष (ब्रह्मा के 50 वर्ष)

You Might Also Like

भगवान राम का जन्म कब और किस युग में हुआ? - वैदिक व वैज्ञानिक प्रमाण

सबसे बड़े भगवान कौन है, राम कृष्ण शंकर या विष्णु?

माया क्या है? माया की परिभाषा और उसके प्रकार?

धर्म क्या है? धर्म के प्रकार? परधर्म व अपरधर्म क्या है?

गुरु मंत्र अथवा दीक्षा क्या होती है?

देवी-देवता और भगवान में क्या अंतर है?

गुरु कौन है, अथवा गुरु क्या है?

भक्त प्रह्लाद कौन थे? इनके जन्म और जीवन की कथा।