× Subscribe! to our YouTube channel

चार युग - मनुष्य का जीवन (वर्ष) और उनकी लम्बाई।

मनुष्य का जीवन (वर्ष) और उनकी लम्बाई।
युग का अर्थ होता है एक निर्धारित संख्या के वर्षों की काल-अवधि। उदाहरणः कलियुग, द्वापर, सत्ययुग, त्रेतायुग आदि। सभी युग में मनुष्यों की अलग-अलग होती है उनका जीवन और उनके शरीर की लम्बाई।
प्रत्येक युग के जीवन प्रमाण और उनकी शरीर की लम्बाई कुछ इस तरह है:

सत्ययुग

सत्ययुग का पूर्ण समय - 17,28,000 मानव वर्ष
मनुष्य की आयु - 1,00,000 मानव वर्ष
लम्बाई - 31 फिट (लगभग)

त्रेतायुग

त्रेतायुग का पूर्ण समय - 12,96,000 मानव वर्ष
मनुष्य की आयु - 10,000 मानव वर्ष
लम्बाई - 21 फिट (लगभग)
 मनुष्य का वर्ष और उनकी लम्बाई

द्वापरयुग

द्वापरयुग का पूर्ण समय - 8,64,000 मानव वर्ष
मनुष्य की आयु - 1000 मानव वर्ष
लम्बाई - 11 फिट (लगभग)

कलियुग

कलियुग का पूर्ण समय - 4,32,000 मानव वर्ष
मनुष्य की आयु - 100 मानव वर्ष
लम्बाई - 5.5 फिट (लगभग)

You Might Also Like

भगवान राम का जन्म कब और किस युग में हुआ? - वैदिक व वैज्ञानिक प्रमाण

सबसे बड़े भगवान कौन है, राम कृष्ण शंकर या विष्णु?

माया क्या है? माया की परिभाषा और उसके प्रकार?

धर्म क्या है? धर्म के प्रकार? परधर्म व अपरधर्म क्या है?

गुरु कौन है, अथवा गुरु क्या है?

देवी-देवता और भगवान में क्या अंतर है?

गुरु मंत्र अथवा दीक्षा क्या होती है?

भक्त प्रह्लाद कौन थे? इनके जन्म और जीवन की कथा।