चार युग - मनुष्य का जीवन (वर्ष) और उनकी लम्बाई।

मनुष्य का जीवन (वर्ष) और उनकी लम्बाई।
युग का अर्थ होता है एक निर्धारित संख्या के वर्षों की काल-अवधि। उदाहरणः कलियुग, द्वापर, सत्ययुग, त्रेतायुग आदि। सभी युग में मनुष्यों की अलग-अलग होती है उनका जीवन और उनके शरीर की लम्बाई।
प्रत्येक युग के जीवन प्रमाण और उनकी शरीर की लम्बाई कुछ इस तरह है:

सत्ययुग

सत्ययुग का पूर्ण समय - 17,28,000 मानव वर्ष
मनुष्य की आयु - 1,00,000 मानव वर्ष
लम्बाई - 31 फिट (लगभग)

त्रेतायुग

त्रेतायुग का पूर्ण समय - 12,96,000 मानव वर्ष
मनुष्य की आयु - 10,000 मानव वर्ष
लम्बाई - 21 फिट (लगभग)
 मनुष्य का वर्ष और उनकी लम्बाई

द्वापरयुग

द्वापरयुग का पूर्ण समय - 8,64,000 मानव वर्ष
मनुष्य की आयु - 1000 मानव वर्ष
लम्बाई - 11 फिट (लगभग)

कलियुग

कलियुग का पूर्ण समय - 4,32,000 मानव वर्ष
मनुष्य की आयु - 100 मानव वर्ष
लम्बाई - 5.5 फिट (लगभग)

You Might Also Like

भगवान राम का जन्म कब और किस युग में हुआ? - वैदिक व वैज्ञानिक प्रमाण

मन और शरीर पर खाना खाने का क्या प्रभाव पड़ता है? - वेदों के अनुसार

सबसे बड़े भगवान कौन है, राम कृष्ण शंकर या विष्णु?

सूतक और पातक क्या हैं? जन्म मृत्यु के बाद क्यों लग जाता है?

क्यों तुलसीदास जी ने लिखा ढोल गवाँर सूद्र पसु नारी? क्या सही अर्थ है?